• No products in the cart.

Blog

वेद-पुराणों तथा धर्मशास्त्रों में संस्कारों Sankar की आवश्यकता बतलाई गयी है । जैसे खान से सोना, हीरा आदि निकलने पर उसमें चमक-प्रकाश तथा सौंदर्य के लिए उसे तपाकर, तराशकर मैल हटाना एवं चिकना करना आवश्यक होता है, उसी प्रकार मनुष्य

शिशु जब पैदा होता है तो पिछले जन्मों के कर्मानुसार उसके मन में कई प्रकार के संस्कार विद्यमान हो रहते हैं। अच्छी शिक्षा और संस्कार मिलने पर उसका मन शुद्ध हो जाता है क्योंकि शिक्षा और संस्कारों का शिशु के

हमारी भारतीय संस्कृति के अनुसार भारत देशमे छह प्रकारकी अलग अलग ऋतुका अनुभव होता है । सर्दी  जाने तथा गर्मी आनेके बीच के दिनो को वसंत ऋतु माना गया है । सूर्य संक्रांति अनुसार सूर्य का कुम्भ राशि तथा मीन

Ritu - Indian Season सर्वांगीण हिंदू धर्म की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इसमें मनुष्य के सर्वांगीण शारीरिक मानसिक और आध्यात्मिक विकास का लक्ष्य रखा गया है। धर्म का स्वास्थ्य और आरोग्य से गहरा संबंध है। स्वस्थ शरीर में

हमारी भारतीय परंपरागत रसोई मे अनेक प्रकार के मसाले Spices देखे जा सकते है। जीनका  रोज रसोई मे नियमीत  उपयोग होता है। रसोइमे मसाले Spices सिर्फ स्वाद के हेतु से ही नाही परंतु औषधीय गुण भी रखाते है  , जीनके